English Home Page Photo Gallery Contact KVPY - Go to Home Page
Home About KVPY Committee Fellowship Eligibility Selection Procedure Applications FAQ Fellows Results

शिक्षावृत्तियां

मूल विज्ञान

मासिक शिक्षावृत्ति

वार्षिक आकस्मिक अनुदान

एस. ए. / एस. एक्स. / एस. बी.  - प्रथम से तृतीय वर्ष के दौरान - B.Sc./B.S./B.Stat./B.Math./Int. M.Sc. /M.S. Rs. 5,000 Rs. 20,000
     
एस. ए. / एस. एक्स. / एस. बी.  - M.Sc./Int. M.Sc./M.S./M.Sat./M.Math के चतुर्थ एवं पंचम वर्षों के दौरान Rs. 7,000 Rs. 28,000


शिक्षावृत्ति की निरंतरता एवं नवीकरण
शिक्षावृत्ति के वार्षिक नवीकरण हेतु के. वी. पी. वाई. अध्येता द्वारा प्रत्येक वर्ष में विज्ञान विषयों में प्रथम श्रेणी (60 % अंक) अथवा समतुल्य औसत ग्रेड (50 % अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी.) प्राप्त करना आवश्यक है | असफल विद्यार्थियों को शिक्षावृत्ति प्रदान नहीं की जायेगी | हालाँकि यदि आगामी वर्ष में विद्यार्थी इतने अंक हासिल कर ले कि सभी पूर्व वर्षों का औसत प्राप्तांक 60 % अथवा समतुल्य (50 % अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी.) हो जाए तो उनकी शिक्षावृत्ति का नवीकरण कर दिया जाएगा | यह नियम 2012 बैच के अद्येताओं से मान्य है | अभ्यर्थी के. वी. पी. वाई. शिक्षावृति पीएचडी के पूर्व स्तरों अथवा पांच साल, इनमें से जो भी पहले हो, तक ही प्राप्त कर सकते हैं |

उपरोक्त के अतिरिक्त प्रथम वर्ष में क्षेत्रीय विज्ञान शिविर में भागीदारी एवं संतोषजनक प्रदर्शन और तत्पश्चात प्रथम वर्ष ग्रीष्मकालीन योजना में भाग लेना शिक्षावृत्ति के नवीकरण के लिए अनिवार्य है |

के. वी. पी. वाई. अध्येता जो किसी शैक्षणिक स्तर पर विज्ञान विषयों को छोड़ने का विकल्प लेते है, उन्हें शिक्षावृत्ति एवं आकस्मिक अनुदान से वंचित कर दिया जाएगा |

वर्ग एस.ए./ एस. एक्स./एस.बी. के तहत चयनित विद्यार्थियों के लिए शिक्षावृत्ति, कक्षा XII (+2) उतीर्ण करने के पश्चात तभी लागू होगी जब वे मूलभूत विज्ञान में स्नातक (B.Sc./B.S./B.Stat./B.Math./Int. M.Sc.//Int.M.S.) में मूलभूत विज्ञान विषयों, जैसे रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, गणित, सांख्यिकी, जैव-रसायन, सूक्ष्म जीव विज्ञान, कोशिका जीव विज्ञान, पारिस्थतिकी विज्ञान, आण्विक जीव विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, प्राणी शास्त्र, शरीर विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी, स्नायु विज्ञान, जैव सूचना विज्ञान, समुद्री जीव विज्ञान, भूविज्ञान, मानवजीवन विज्ञान, अनुवांशिकी, जैव चिकित्सा विज्ञान, अनुप्रयुक्त भौतिकी, भू-भौतिकी अथवा पर्यावरण विज्ञान का अध्यन करते है |

ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम

के. वी. पी. वाई. अध्येताओं के मानसिक विकास एवं पोषण के लिए अनेक ग्रीष्मकालीन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है | इन कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य अध्येताओं को वैज्ञानिक खोज के तरीको से रूबरू कराना एवं उनमें वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए स्थायी रूचि को अंतर्निर्विष्ट कराना है | सामान्यत: इनका आयोजन ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान किया जाता है | इसके अंतर्गत के. वी. पी. वाई. अध्येता एक या दो सप्ताह के लिए वैज्ञानिक संस्थानों में विभिन्न मूलभूत विज्ञान एवं संबंधित विषयों के अनेक विशेषज्ञों द्वारा व्यखानों को सुनने, शोध वातावरण की परिस्थितियों को देखने, विज्ञान के कार्यान्वन में रत वैज्ञानिकों को कार्यरत देखने एवं वार्तालाप करने, समीप स्थित वैज्ञानिक अनुसंधान प्रयोगशालाओं एवं संस्थानों का भ्रमण करने, अन्य शोध विद्यार्थियों से दृष्टीकोणों के आदान-प्रदान एवं वार्तालाप करने में व्यतीत करते है | कभी-कभी विशिष्ट रूचि वाले अध्येता वैज्ञानिकों से व्यक्तिगत रूप से जुड़ते हैं | ये वैज्ञानिक अध्येता की रुचियों के बारे में बात करते हैं, उनकी शंकाओं के समाधान में मदद करते हैं, उन्हें हल करने हेतु प्रश्न देते हैं, परीक्षण करने का अवसर प्रदान करते हैं और उनकी रूचि के क्षेत्र का भविष्य में विस्तार के बारे में जानकारी देते हैं |

के. वी. पी. वाई. अध्येताओं के लिए ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (IISER), कोलकाता, पुणे, मोहाली,भोपाल एवं त्रिवेंद्रम में एक सप्ताह के लिए आयोजित किये जाते हैं |

अन्य सुविधायें

प्रत्येक के. वी. पी. वाई. अध्येता को एक ऐसा पहचान पत्र जारी किया जाता है जिसको प्रस्तुत करने से वे उन्हें उन सभी राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं/ विश्वविद्यालयों के पुस्तकालयों, प्रयोगशालाओं, आदि, का इस्तेमाल कर पायेंगे जिन्होंने इस योजना को स्वीकृति दी है |


हमारा उद्देश्य

हम आशा करते है कि एक विद्यार्थी को शिक्षावृत्ति का अनुदान उन्हें मूलभूत विज्ञान में उनकी रूचि के विषयों में अनुसंधान के लिए प्रोत्साहित एवं प्रेरित करे और विद्यार्थी को शोध करियर को चयनित करने के लिए प्रेरित करे |

 

 

Eligibility

 

News and Highlights

English Home Page Photo Gallery Contact KVPY - Go to Home Page